Search Fast here!

How to write a blog in hindi - WhatYouRemind

ब्लॉगर बनने की राह में सबसे ज्यादा ज़रूरी जो चीज है वो ये है की अपने blog पर कंटेंट कैसा है | अच्छा कंटेंट ज्यादा ट्रैफिक लता है | ख़ास कर वैसा कंटेंट जो किसी के काम आये | और लम्बे समय तक्क ट्रैफिक को बनाये भी रखता है | अगर आपके blog के पीछे कुछ पोस्ट नहीं पढ़े तो आप ज़रूर पढ़िए | उस पोस्ट के लिंक निचे दिए गए है | 
ये आर्टिकल काफी डिटेल में है | और आपकी मदद करेंगे | WhatYouRemind के आज के आर्टिकल में हम बात करते है की एक Blogpost को लिखना कैसे है | ये एक Step-to-step guide होगा | इसके दो भाग होंगे | ये पहला भाग है, जहा पर blog में article को कैसे लिखते है ये बताया जायेगा | इसके दूसरे भाग को अगले blogpost में बताया जायेगा , जिसमे इस बात पर ध्यान दिया जायेगा की article SEO के तहत कैसे लिखा जाये |

how-to-write-a-blog
How to write a blog


भाग-1 How to write a blog, उन लोगों के लिए है जो ब्लॉगिंग में शुरुआत कर रहे है | और उन्हें blogpost का structure नहीं पता है | 

Blogpost लिखने के लिए आपको एक structure को फॉलो करना होगा |  ये नियम आपको फॉलो करना ज़रूरी है , क्युकी यही आपके ब्लॉग पर आने वाले विजिटर को ये समझने में मदद करेगा की कंटेंट क्या है, किस तरह से उनको क्या करना है |

How to write a blog post 

  • Choose topic
  • Purpose of blog post
  • Research 
  • First draft
  • Final Draft 
  • Call to action

ये सभी स्टेप्स आपको फॉलो करने ज़रूरी है | एक कर्म में इसके फॉलो करे तो आर्टिकल लिखना आसान हो जायेगा | हर एक स्टेप दूसरे से जुड़ा हुआ है | एक पूरा नहीं होगा तो दूसरा शुरू नहीं कर सकते | 

Choose Topic : 


Blog Topics की एक अहम् भूमिका रहती है | जब आप अपना Blog Niche चुन लेते है, उसके बाद, आपको यह जानने की जरूरत होती है कि आप उस blog niche  पर  कितने टॉपिक लिखेंगे |  आप जितने ज्यादा टॉपिक अपने ब्लॉग पर लिखेंगे उतना ही आपके ब्लॉग को सर्च इंजन में देखा जाएगा |

हम टॉपिक में जानकारी को ज्यादा से ज्यादा  लिखना होता है,  यह ब्लॉग के आने वाले विजिटर को यह सुनिश्चित करता है कि  उसे इस टॉपिक पर जानकारी पूरी मिल गई है |

how-to-write-a-blog
Blog ka topic kaise chune 


कई बार तो विजिटर आपके पोस्ट को पढ़ने के बाद दूसरे किसी भी पोस्ट को नहीं पढ़ता |  इससे गूगल में यह मैसेज आता है कि आपका लिखा हुआ पोस्ट अच्छा है,  और उस टॉपिक पर दी जाने वाली जानकारी लोगों के काम भी आ रही है |  जिससे  सर्च इंजन उसे टॉप पर दिखाते हैं |

इसीलिए अपने ब्लॉग का टॉपिक चुनते  समय आपको इन बातों का ध्यान रखना चाहिए,  आपके विजिटर किस तरह की पोस्ट को पढ़ते हैं |  यह सुनिश्चित करने के बाद आपको कंटेंट लिखना चाहिए |
मुख्य रूप से Blog topic इन 4 भागों में बटें है | 
  • क्या आप blog post में किसी सवाल का उत्तर देने वाले है?
  • क्या आप अपना कोई opinion देने जा रहे है?
  • क्या आप अपने Blog post में कोई सीख देने जा रहे है?
  • क्या आप कोई नया अपडेट देने वाले है?
ब्लॉग को लिखते समय आपको खुद से इन 4 सवालों को अपने आप से पूछना चाहिए |  ज्यादातर ब्लॉग इन्हीं 4 भागों में बटें होते है |  

आपको भी अपने ब्लॉग पर लिखने वाले टॉपिक के बारे में अच्छे से सोचना चाहिए कि वे किस तरीके से  आपके विजिटर को फायदा पहुंचाएंगे |

Purpose of blog post:


जब आपने यह निश्चित कर लिया की आपका Blog topic आपके ब्लॉग पर आने वाले विजिटर की किस तरीके से मदद करेगा,  उसके बाद आपको यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि आपका  टॉपिक को लिखने का क्या मकसद है |

क्या आप उस टॉपिक को विजिटर को फायदा पहुंचाने के लिए लिख रहे हैं?  या फिर आप  केवल उसे मार्केटिंग  के लिए लिख़ रहे है?

आप अपने उस टॉपिक में किसी Affiliate link  का प्रमोशन कर रहे हैं ? या फिर आप किसी विशेष जानकारी का प्रचार करने के हक़ में है?

इससे आपको अपने blog post को आउटलाइन करने में मदद मिलेगी,  जिससे यह पूर्ण रूप से हो जाएगा कि आप अपने इस blog post में किस तरह की जानकारी हो बांटना चाहते हैं |   

Research:


देखा जाए तो आपके द्वारा लिखा गया blog post कितना अच्छा होगा इस बात पर निर्भर करता है कि आप अपने ब्लॉग में दी जाने वाली जानकारी को  कितनी गहराई पर लिख सकते हैं |

आपके ब्लॉग में जानकारी जितनी गहरी होगी उतना ही विजिटर को टॉपिक के बारे में  ज्यादा पता लगेगा |  और वह आगे से आपके ब्लॉग पर आने के लिए तयार रहेगा |

जितनी अच्छी और गहरी जानकारी होगी उतना ही ज्यादा विजिटर आपके ब्लॉग पर आएंगे |  क्योंकि इससे वह कुछ नया सीख पाएंगे |

आप रिसर्च के लिए  इंटरनेट पर मौजूद दूसरे blog post को पढ़ सकते हैं |  इससे आप यह जान पाएंगे कि वह किस तरह की जानकारी अपने पोस्ट में शेयर कर रहे हैं |

आप कोई भी बात पता होनी चाहिए की जितनी अच्छी आपकी रिसर्च होगी,  उतना ही अच्छा आप कंटेंट लिख सकते हैं |  और अच्छा कंटेंट आपको अच्छे page views  दिलाएगा |  जिससे आपके विजिटर और  बढ़ेंगे |

अभी तो ऊपर आपने जो कुछ भी पढ़ा  है, मैं आपके लिए नया होगा |  कोई भी ब्लॉगर इस बात को किसी और के साथ शेयर नहीं करता | पर फिर भी है  तू जरूरी है |

First draft:


सभी ब्लॉगर आपको यह बताते हैं कि अच्छा कंटेंट लिखना चाहिए | पर कोई यह  नहीं बताता  कि आप किस तरीके से अच्छा कंटेंट्स लिख सकते हैं |

how-to-write-a-blog
blog structure


पर मैं आपको इसके बारे में पूरी जानकारी दूंगा कि आप किस तरह से अच्छा कंटेंट लिख सकते हैं |   आप किस तरह से छोटी छोटी बातों का ध्यान रखें अपने ब्लॉग को और blog post को अच्छा बना सकते हैं |

blog post  समय आपको ये स्टेप्स ध्यान में रखने चाहिए | 

  • Create headline (title) : आपका title सही मायनो में आपके पोस्ट में लिखी जानकारी को दर्शाता हो | अगर आप अच्छा title नहीं लिखेंगे तो आपके विजिटर क्लिक करने आपके पोस्ट को नहीं पढ़ेंगे | Clickbate title गूगल में रैंक नहीं करते | आपको keywords भी अपने title में डालने होंगे जिससे वह सर्च इंजन में रैंक करे | 
  • Introduction : Introduction  आपके blog post कब है भाग होता है जहां पर आप अपने विजिटर को यह बताते हैं कि किस तरह की जानकारी उसे इस ब्लॉग पोस्ट में पढ़ने को मिलेगी |  यह जानकारी एक लाइन के टाइटल में पूरी तरह से नहीं दी जा सकती |  इसीलिए Introduction  मैं आपको यह बताना पड़ेगा कि आपका आर्टिकल  किस तरह की जानकारी से भरपूर है |  आप Introduction  लिखते समय बात का भी ध्यान रखें,  की सर्च इंजन में रैंक कराने के लिए keywords  को भी Introduction  मैं इस्तेमाल करना होता है |
  • Body :  आपके आर्टिकल का वह सारा कंटेंट जिसके लिए आपने इतना रिसर्च किया है |  उसे आर्टिकल की body   मैं आपको लिखना होगा |  आपको इसे लिखने के लिए इसे भाग में बांटना होगा |आर्टिकल को सही तरह से लिखने के लिए आप heading और sub-headings  का इस्तेमाल कर सकते हैं | bullets और numbering  करके भी आप अपने आर्टिकल को सरल बना सकते हैं |पर आपको यह ध्यान रखना होगा की 3 ही headings का पुरे आर्टिकल में इस्तेमाल करने | 23 sub-headings से ज्यादा आर्टिकल में नहीं होने चाहिए | Links का इस्तेमाल सही तरह से करे | 
  • Create/find images : अगर आप कई से images डाउनलोड करते है तोह उसका source  जरूर बताये | अगर आप आर्टिकल में खुद से बनाये images  का प्रयोग करते है तो आप Canva का इस्तेमाल भी कर सकते है | 
  • Conclusion : एक आर्टिकल का  Conclusion उसका सन्देश होता है जो ब्लॉगर अपने विजिटर को देना चाहता है | ध्यान रखिये आपका सन्देश आपके आर्टिकल  जानकारी से जुड़ा होना चाहिए | ब्लॉग के अचे रैंकिंग में ये एक अहम् भूमिका निभाता है | 

Final Draft:

अपने आर्टिकल को edit करने और पब्लिश करने के लिए त्यार करना ही  Final Draft  है | आप 2-3 बार आर्टिकल को पढ़े और उन लाइन्स को हटाए जिसकी ज़रूरत आर्टिकल में न हो | इससे आर्टिकल की क्वालिटी अछि होगी | 

Final Draft को आप schedule भी कर सकते है | क्युकी अब आप ये सब सुनिश्चित कर चुके है की आपका आर्टिकल किस तरह से दिख रहा है | 

मैं अपने Final Draft को हमेशा कई बार पढता हु और अपने blog post के माध्यम से दी जाने वाली जानकारी कोई और अच्छा बनाने की कोशिश करता हु | 

Call to action : 

अगर आपका Blog post लिखने का purpose मार्केटिंग से जुड़ा है तो ये वह आखिरी तीर सिद्ध होता है | इसमें आप अपने विजिटर को अपना फेसबुक पेज लाइक करने को कह सकते है | या यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करने को के सकते है | जैसा की आपको इस आर्टिकल को शेयर करने को अंत में कहूंगा | 

Call to action इन मायनो में भी ज़रूरी है की ये आपके ब्लॉग पर आने  को  कुछ अच्छा करने के लिए प्रेरित करता है | कई बार इससे विजिटर की जिंदगी में कोई अच्छा बदलाव भी आने की संभावना बढ़ जाती है | 

Conclusion 

अब आप यह जान गए होंगे कि लिखते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए |  और यह जानकारी आपके ब्लॉगिंग करियर में आपको एक नई मुकाम तक पहुंचाएगी |   उम्मीद  करता हूं कि आपको इस blog post को पढ़कर  कुछ नया सीखने को मिला होगा |

आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर करके मेरी मेहनत को सफल बना सकते है | और मेरे सपने को साकार करने में अपना योगदान दे सकते है की हम सभी ब्लॉग्गिंग कर सकते है | इसके लिए किसी डिग्री की ज़रूरत नहीं है |   

यह भी पढ़े - 
Sharing is caring ! 



About Author:

I am Kumar Gaurav Singh, author of WhatYouRemind blog. I have 2 years of experience in SEO and Copywriting. I worked as a content writer too. I helps people in blogging, SEO, digital marketing and web site development.


Let's Get Connected: Twitter | Quora

Powered by Blogger.